Type to search

औरंगजेब की कब्र पर ओवैसी ने चढ़ाए फूल, कार्रवाई की मांग

जरुर पढ़ें देश राजनीति

औरंगजेब की कब्र पर ओवैसी ने चढ़ाए फूल, कार्रवाई की मांग

Share

अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले AIMIM नेता अकबरुद्दीन ओवैसी एक बार फिर राजनीतिक दलों के निशाने पर हैं. बीते गुरुवार को अकबरुद्दीन ओवैसी ने महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले के खुल्दाबाद में स्थित मुगल सम्राट औरंगजेब की कब्र पर चादर और फूल चढ़ाया, जिसके बाद राजनीतिक दलों ने उन्हें निशाने पर ले लिया.

पूर्व सांसद और शिवसेना नेता चंद्रकांत खैरे ने अकबरुद्दीन पर आरोप लगाया कि वह एक राजनीतिक विवाद पैदा करने की कोशिश कर रहे थे. इसके अलावा उन्होंने कहा कि कोई भी, न हिंदू न मुस्लिम, उस मकबरे पर नहीं जाता क्योंकि औरंगजेब सबसे क्रूर मुगल सम्राट था. लेकिन ओवैसी और उनकी पार्टी के नेता राजनीतिक फायदे के लिए विवाद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं.

इस दौरे पर ओवैसी के साथ एआईएमआईएम नेता और औरंगाबाद के सांसद इम्तियाज जलील भी थे, उन्होंने ओवैसी का बचाव करते हुए कहा कि जो कोई भी खुल्दाबाद में दरगाह शरीफ हजरत बाबा शाह मुसाफिर का दौरा करता है, वह आसपास की सभी दरगाहों पर चादर और फूल चढ़ाता है. उन्होंने कहा कि हमारे नेता हैदराबाद से आए और औरंगाबाद में एक फ्री स्कूल शुरू कर रहे हैं जो किसी विशेष समुदाय के लिए नहीं है, बल्कि यहां सभी बच्चों को मुफ्त शिक्षा मिलेगी. आज उसी की आधारशिला रखी गई. मैं चाहता हूं कि सभी नेता प्रेरित हों.

वहीं महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के नेता गजानन काले ने ओवैसी के मकबरे की यात्रा पर आपत्ति जताई और कहा कि महाराष्ट्र सरकार को औरंगजेब की कब्र पर जाने के लिए ओवैसी के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए. कार्रवाई नहीं हुई तो मनसे कार्रवाई करेगी. औरंगाबाद दौरे के दौरान अकबरुद्दीन ओवैसी ने रैली को संबोधित किया.

उन्होंने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाए जाने की मांग कर रहे राज ठाकरे पर सीधा हमला बोला. उन्होंने कहा कि उन लोगों के बारे में कुछ नहीं कहना है, जिन्हें अपने ही घर से निकाल दिया गया है और ऐसे लोगों को नजरअंदाज किया जाना चाहिए.

Owaisi offered flowers at Aurangzeb’s grave, demanding action

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *