Type to search

पाकिस्तान में बत्ती गुल होने के बाद अंधेरे में डूबा संसद भवन, 3 दिन तक बंद

दुनिया

पाकिस्तान में बत्ती गुल होने के बाद अंधेरे में डूबा संसद भवन, 3 दिन तक बंद

Share
pakistan light off

पाकिस्तान की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही. सोमवार का दिन पाकिस्तान के लिए नई मुसीबत लेकर आया. लगभग 18 घंटे बीत जाने के बाद भी अंधेरे में डूबे पाकिस्तान में उजाला नहीं हो सका है. अब खबर है कि शॉर्ट सर्किट के बाद संसद भवन को तीन दिनों के लिए बंद कर दिया गया है. रविवार को पाकिस्तान के संसद भवन में शॉर्ट सर्किट के बाद आग लग गई थी. लेकिन आग से ज्यादा नुकसान नहीं हुआ था.

संसद भवन के वायरिंग की मेंटेनेंस के मद्देनजर सुरक्षा की दृष्टि से संसद भवन के सभी दफ्तरों को 26 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है. पाकिस्तान नेशनल असेंबली ने सोमवार को ट्वीट कर बताया कि कल संसद भवन में शॉर्ट सर्किट हुआ था. ईश्वर का शुक्र है कि बड़ा नुकसान नहीं हुआ. मेंटेनेंस का काम करने, भवन की पूरी जांच करने और ऐसी घटनाएं दोबारा होने से रोकने के लिए सभी दफ्तरों को 26 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है.

पाकिस्तानी सीनेट के अध्यक्ष और नेशनल असेंबली के स्पीकर ने शॉर्ट सर्किट की घटना के बाद तत्काल एहतियाती कदम उठाने का आदेश दिया है. पाकिस्तानी संसद भवन में शॉर्ट सर्किट की वजह से बिजली व्यवस्था काफी प्रभावित हुई है. 23 जनवरी की शाम चार बजे से लेकर 26 जनवरी सुबह 11 बजे तक होने वाली सभी बैठकों को रद्द कर दिया गया है.

पाकिस्तान का नेशनल ग्रिड फेल होने से 117 स्टेशनों की बिजली आपूर्ति ठप हो गई है. सोमवार सुबह 7.0 बजे पाकिस्तान इलेक्ट्रिसिटी के नेशनल ग्रिड की सिस्टम फ्रीक्वेंसी फेल हो गई थी, इसके चलते लगभग पूरे देश में बिजली सप्लाई ठप हो गई थी. सोमवार को पाकिस्तान के अंधेरे में डूबने से सामान्य कामकाज प्रभावित हुआ है. सोमवार को बिजली सप्लाई ठप पड़ने से कई कारखाने बंद पड़े हैं. इस्लामाबाद में सरकारी अस्पतालों को अपने ऑपरेशन थिएटर बंद करने पड़े हैं जबकि कराची में कुछ अस्पतालों में बैकअप बिजली पर काम हो रहा है.

सोमवार सुबह 7.30 बजे देश का नेशनल ग्रिड ठप पड़ गया, जिससे बिजली सप्लाई बाधित हुई. इसके बाद देश के ऊर्जा मंत्री खुर्रम दस्तगीर को सामने आकर कहना पड़ा कि नेशनल ग्रिड में गड़बड़ी की वजह से यह ब्लैकआउट हुआ है. लेकिन हम इसे दुरुस्त करने में लगे हुए हैं. उन्होंने बताया कि सर्दियों में बिजली की मांग घट जाती है, जिस वजह से रात में पावर जेनरेशन सिस्टम अस्थाई तौर पर बंद कर दिए जाते हैं. लेकिन जब सोमवार सुबह इन्हें चालू किया गया तो वोल्टेज में उतार-चढ़ाव देखा गया और इसके तुरंत बाद एक के बाद एक कर पावर जेनरेटिंग यूनिट बंद हो गईं.

पाकिस्तान के ऊर्जा मंत्री दस्तगीर ने हालांकि डंके की चोट पर कहा है कि यह कोई बहुत बड़ा संकट नहीं है. देश के कुछ पावर ग्रिड को रिस्टोर किया जा चुका है. खैबर पख्तूनख्वाह के ग्रिड स्टेशनों के रिस्टोर किया गया है. लेकिन डॉन की ताजा रिपोर्ट में बताया गया है कि स्थानीय समयानुसार रात 10 बजे से पहले पाकिस्तान में पूरी तरह से बिजली सप्लाई को बहाल नहीं किया जा सकेगा.

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता और पूर्व मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने सरकार को फटकार लगाते हुए कहा है कि सुबह से देस में पावर ब्रेकडाउन है. देश में सत्ता में बैठे अयोग्य लोग इसके लिए जिम्मेदार हैं. उन्होंने देश को लूटकर पैसे को बाहर भेज दिया है. पत्रकार हरिस तोहिद ने इस ब्रेकडाउन पर चिंता जताते हुए कहा है कि इस बिजली संकट से देश के आम लोगों में और डर बढ़ गया है. उन्हें लगने लगा है कि अब देश गंभीर ऊर्जा संकट की ओर बढ़ रहा है.

Parliament House immersed in darkness after power failure in Pakistan, closed for 3 days

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *