Type to search

Phonepe ने ट्रांजेक्शन फीस लेना किया शुरू!

कारोबार जरुर पढ़ें देश

Phonepe ने ट्रांजेक्शन फीस लेना किया शुरू!

Share

मुंबई – मोबाइल रिचार्ज कराने से लेकर बिजली का बिल भरने और ग्रॉसरी स्टोर से सामान खरीदने तक ना जाने कितने ऑनलाइन ऑर्डर के लिए आप फोनपे ऐप का इस्तेमाल कर भुगतान करते होंगे. लेकिन फोनपे यूजर्स के लिए बुरी खबर है दरअसल अब फोनपे के जरिए मोबाइल रिचार्ज करना महंगा हो गया है. वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली डिजिटल पेमेंट कंपनी PhonePe ने UPI सहित कुछ ट्रांजेक्शन पर ट्रांजेक्शन फीस लगाना शुरू कर दिया है. बता दें कि कंपनी ने सितंबर में अपने प्लेटफॉर्म पर 165 करोड़ से ज्यादा UPI लेनदेन दर्ज किए थे.

गौरतलब है कि कंपनी (PhonePe) UPI-बेस्ड ट्रांजेक्शन के लिए चार्ज शुरू करने वाली पहली डिजिटल पेमेंट ऐप है. वहीं यह सर्विस इसकी प्रतिस्पर्धी कंपनियों द्वारा फ्री में दी जा रही है. डिजिटल पेमेंट ऐप ने 50 रुपये से ज्यादा के मोबाइल रिचार्ज के लिए हर ट्रांजेक्शन पर एक रुपये से लेकर 2 रुपये तक प्रोसेसिंग फीस वसूलना शुरू कर दिया है. PhonePe यूजर्स से 50 से 100 रुपये के बीच रिचार्ज कराने पर 1 रुपये का शुल्क लिया जाएगा. वहीं 100 रुपये से ऊपर का रिचार्ज कराने पर 2 रुपये फीस ली जाएगी.

PhonePe ने एक बयान में कहा, “रीचार्ज पर, हम बहुत छोटे स्केल पर एक्सपेरिमेंट कर रहे हैं, जहां कुछ यूजर्स मोबाइल रिचार्ज के लिए भुगतान कर रहे हैं. 50 रुपये से कम का रिचार्ज कराने पर कोई शुल्क नहीं लिया जाता है. वहीं 50 से 100 रुपये के बीच रिचार्ज कराने पर 1 रुपये और उससे अधिक का शुल्क लिया जाता है. 100 से ऊपर के रिचार्ज पर 2 रुपये फीस है. अनिवार्य रूप से, एक्सपेरिमेंट्स का पार्ट होने के कारण ज्यादातर यूजर्स या तो कुछ भी भुगतान नहीं कर रहे हैं या 1 रुपये का भुगतान कर रहे हैं.

PhonePe क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके किए गए भुगतान के लिए उसी तरह से प्रोसेसिंग शुल्क लेना शुरू कर देगा जैसे अन्य भुगतान एप्लिकेशन ने किया है. फोन पे (PhonePe), पेटीएम (Paytm) और गूगल पे (Google Pay) के साथ, भारत में सबसे लोकप्रिय और व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले भुगतान ऐप हैं.

बिल पेमेंट को लेकर PhonePe के प्रवक्ता ने कहा है, “हम शुल्क लेने वाले एकमात्र प्लेयर या पेमेंट प्लेटफॉर्म नहीं हैं. बिल पेमेंट पर एक स्मॉल फीस चार्ज करना अब एक स्टैंडर्ड इंडस्ट्री प्रैक्टिस है और यह अन्य बिलर वेबसाइटों और भुगतान प्लेटफार्मों के जरिए भी किया जाता है. हम एक प्रोसेसिंग पीस (अन्य प्लेटफार्मों पर सुविधा शुल्क के रूप में कहा जाता है) लेते हैं जो कि केवल क्रेडिट कार्ड से भुगतान पर चार्ज की जाती है.”

थर्ड पार्टी ऐप्स में UPI ट्रांजैक्शन के मामले में PhonePe की सबसे बड़ी हिस्सेदारी है. कंपनी ने सितंबर में अपने प्लेटफॉर्म पर 165 करोड़ से अधिक UPI लेनदेन दर्ज किए थे, जिसमें ऐप सेगमेंट में 40% से अधिक हिस्सेदारी थी. PhonePe की स्थापना 2015 में फ्लिपकार्ट के पूर्व अधिकारियों समीर निगम, राहुल चारी और बुर्जिन इंजीनियर ने की थी. डिजिटल भुगतान ऐप के 300 मिलियन से ज्यादा रजिस्टर्ड यूजर्स हैं.

Phonepe starts charging transaction fees!

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *