Type to search

BJP के ‘नबान्न अभियान’ को पुलिस ने नहीं दी अनुमति

देश

BJP के ‘नबान्न अभियान’ को पुलिस ने नहीं दी अनुमति

Share
Naban Abhiyan

पश्चिम बंगाल में भ्रष्टाचार के खिलाफ बंगाल बीजेपी ने ममता बनर्जी की सरकार के खिलाफ ‘नबान्न चलो अभियान’ का आह्वान किया है. मंगलवार को बीजेपी के कार्यकर्ता राज्य सचिवालय नबान्न की ओर मार्च करेंगे. इसे लेकर बीजेपी पिछले दो सप्ताह से तैयारी कर रही है, लेकिन हावड़ा जिला पुलिस ने सोमवार को बीजेपी को भेजे गये पत्र में साफ कर दिया है कि पुलिस बीजेपी के नबान्न अभियान को अनुमति नहीं देती है. इससे बंगाल की ममता बनर्जी की सरकार और बंगाल बीजेपी के बीच मंगलवार को महानगर के राजपथ पर महासंग्राम मचना लगभग तय हो गया है.

हावड़ा के पुलिस उपायुक्त, मुख्यालय की ओर से बंगाल बीजेपी को लिखे पत्र में कहा गया है कि नबान्न यानी राज्य सचिवालय एक हाई सेक्युरिटी जोन है. यहां धारा 144 लागू रहता है. इस इलाके में एक साथ चार लोग एकत्रित नहीं हो सकते हैं.

पुलिस द्वारा बंगाल बीजेपी को दिये गये पत्र में कहा गया है कि आपने सूचित किया है कि हावड़ा मैदान में आप लोग एकत्रित होंगे. लेकिन चूंकि मंगलवार को हावड़ा मैदान इलाके में मंगलाहाट लगता है. राजनीतिक सभा से वहां जाम लग सकता है. इसलिए वहां राजनीतिक सभा या जुलूस की अनुमति नहीं दी जा सकती है. राजनीतिक जुलूस निकाले जाने से जीटी रोड जाम हो जाएगा. इसके साथ ही नेशनल हाईवे और कोना एक्सप्रेस वे पर भी लोगों को एक साथ एकत्रित होने की अनुमति नहीं दी गई है. बता दें कि बंगाल बीजेपी नबान्न अभियान की जोरदार तैयारी कर रही है. बीजेपी के नेता तीन दिशाओं से एक विशाल जुलूस के साथ आगे बढ़ेंगे. नवान्न की ओर जुलूस कॉलेज स्ट्रीट, हावड़ा मैदान और संतरागाछी की ओर से निकलेगा. अमित मालवीय ने ट्वीट कर कहा है कि ममता बनर्जी कितने लोगों को रोकेंगी ?

कुल तीन जुलूस निकाले जाएंगे. जुलूस का नेतृत्व क्रमशः बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार, विरोधी दल नेता शुभेंदु अधिकारी और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष करेंगे. सूत्रों के मुताबिक कॉलेज स्ट्रीट से जुलूस की अगुवाई दिलीप घोष करेंगे. हावड़ा मैदान से जुलूस का नेतृत्व सुकांत मजूमदार, एसएस अलुवालिया, सुभाष सरकार करेंगे. संतरागाछी से आने वाले जुलूस के प्रभारी शुभेंदु अधिकारी, लॉकेट चट्टोपाध्याय, सौमित्र खान हैं. बीजेपी सूत्रों के मुताबिक सभी जुलूसों में सांसद और विधायक शामिल होंगे. इस जुलूस में आरएसएस, विश्व हिंदू परिषद, दुर्गा वाहिनी के सदस्य भी शामिल होने की उम्मीद है. दूसरी ओर, दिलीप घोष ने आशंका जताई है कि इस जुलूस को लेकर घमासान मच सकता है.

Police did not give permission to BJP’s ‘Naban Abhiyan’

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *