Type to search

90 से बढ़कर 101 हुआ एनडीए

देश बड़ी खबर

90 से बढ़कर 101 हुआ एनडीए

Share
Out of 19 seats in rajyasabha BJP win 8 seats

देश के आठ राज्यों की 19 राज्यसभा सीटों पर शुक्रवार को वोटिंग हुई, जिसमें से 8 सीटें बीजेपी के खाते में गई हैं और कांग्रेस को 4 सीटें मिली हैं। राज्यसभा में एनडीए की 90 सीटें थीं, जो बढ़कर 101 हो गई हैं। यह पहली बार है, जब एनडीए के राज्यसभा सांसदों की संख्या 100 के पार पहुंची है, जिसमें से अकेले बीजेपी के पास 86 सांसद हैं। कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए के पास इस समय 65 सीटें हैं। आपको बता दें कि 245 सीटों वाले उच्च सदन में बहुमत के लिए 123 सांसदों का समर्थन चाहिए। अगर राज्यसभा में बीजू जनता दल (बीजेडी), एआईएडीएमके और वाईएसआर कांग्रेस जैसी पार्टियों का समर्थन मिले, तो एनडीए आसानी से बहुमत का आंकड़ा हासिल कर सकता है।

गुजरात

गुजरात की चार राज्यसभा सीटों पर हुए चुनाव में बीजेपी ने तीन सीटें जीत ली हैं, जबकि कांग्रेस को एक सीट पर कामयाबी मिली है। यहां से बीजेपी उम्मीदवार अभय भारद्वाज, रमिलाबेन बारा और नरहरी अमीन राज्यसभा सांसद चुन लिए गये हैं। कांग्रेस से उसके एक उम्मीदवार शक्ति सिंह गोहिल को सफलता मिली है, जबकि उसके उम्मीदवार भरत सिंह सोलंकी को हार का सामना करना पड़ा। दरअसल, आठ विधायकों के इस्तीफे की वजह से कांग्रेस के हाथ से दूसरी सीट जीतने का मौका निकल गया।

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश की तीन सीटों में से बीजेपी के खाते में दो सीटें आई हैं, जबकि कांग्रेस को एक सीट पर जीत मिली है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह राज्यसभा चुनाव जीत गए हैं। जबकि बीजेपी की ओर से ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी चुनाव जीत गये। वहीं कांग्रेस के दूसरे उम्मीदवार फूलसिंह बरैया को सिर्फ 36 वोट ही मिले। आपको याद होगा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राज्यसभा का टिकट नहीं मिलने की वजह से ही नाराज होकर कांग्रेस छोड़ा था। कांग्रेस उन्हें राज्यसभा में जाने से रोक भी नहीं पाई और उनके बीजेपी में शामिल होने से प्रदेश कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ा सो अलग। वहीं मध्य प्रदेश में समाजवादी पार्टी के विधायक राजेश शुक्ला को बीजेपी के पक्ष में वोट करने के चलते निष्कासित कर दिया गया है।

राजस्थान

राजस्थान में सत्ताधारी कांग्रेस नतीजों के मामले में आगे रही। यहां कांग्रेस ने दो सीटों पर कब्जा जमाया है. कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल को 64 वोट मिले, जबकि कांग्रेस के दूसरे उम्मीदरवार नीरज दांगी को 59 वोट मिले। जबकि बीजेपी की तरफ से राजेंद्र गहलोत ने 54 वोटों के साथ जीत हासिल की। यहां कांग्रेस ने बीजेपी की एक अतिरिक्त सीट जीतने की कोशिश बेकार कर दी। बीजेपी ने दूसरा उम्मीदवार भी उतारा था, लेकिन उसे हार का सामना करना पड़ा।

झारखंड

झारखंड में दो सीटों पर हुए राज्यसभा चुनाव में सत्ताधारी जेएमएम और विपक्ष बीजेपी दोनों को एक एक सीटें मिली है। जेएमएम उम्मीदवार और राज्य के पूर्व सीएम शिबू सोरेन के पक्ष में 30 वोट पड़े जबकि बीजेपी उम्मीदवार दीपक प्रकाश को 31 वोट मिले। कांग्रेस उम्मीदवार शहजादा अनवर को 18 वोटों के साथ हार झेलनी पड़ी। राज्य के सीएम हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप भी लगाया।

आंध्र प्रदेश

उ्मीद के मुताबिक आंध्र प्रदेश में सत्तारुढ़ वाईएसआर कांग्रेस के उम्मीदवारों ने राज्यसभा की चारों सीटों पर कब्जा जमाया। विजेताओं में उपमुख्यमंत्री पिल्ली सुभाष चंद्र बोस, मंत्री मोपिदेवी वेंकटरमन और रियल इस्टेट कारोबारी अयोध्या रामी रेड्डी के अलावा उद्योगपति परिमल नाथवानी भी शामिल हैं। परिमल नाथवानी पिछले दो बार से झारखंड कोटे से राज्यसभा पहुंच रहे थे। लेकिन इस बार उनके झारखंड से सांसद बनने की गुंजाइश नहीं थी, क्योंकि वहां पर झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस की सरकार है, इसलिए उन्होंने आंध्र प्रदेश से किस्मत आजमाई और लगातार तीसरी बार राज्यसभा पहुंच गये।

मणिपुर

मणिपुर में बीजेपी ने सबको हैरान करते हुए राज्य की एक मात्र राज्यसभा सीट पर जीत हासिल कर ली है। बीजेपी ने 28 वोटों के साथ राज्यसभा की एकमात्र सीट पर कब्जा जमा लिया, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार को सिर्फ 24 वोट मिले। वैसे, अभी हाल ही में बीजेपी के 9 विधायकों ने एन बिरेन सिंह की सरकार से समर्थन वापस ले लिया था। राज्य सरकार के अल्पमत में आने की वजह से आशंका जताई जा रही थी कि बीजेपी उम्मीदवार की जीत मुश्किल हो सकती है। ऐसे में राज्यसभा चुनाव में बीजेपी की ये जीत अप्रत्याशित जरुर थी।

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *