Type to search

370 हटने से रिजर्वेशन का रास्ता साफ, शाह ने बताया इन लोगों को कब मिलेगा आरक्षण

देश

370 हटने से रिजर्वेशन का रास्ता साफ, शाह ने बताया इन लोगों को कब मिलेगा आरक्षण

Share on:

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू कश्मीर के दौरे का दूसरा दिन है. आज माता वैष्णो देवी के दर्शन के बाद वो राजौरी पहुंचे. यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर में आज की ये रैली, मोदी, मोदी के नारे उन लोगों के लिए जवाब है, जो कहते थे कि अनुच्छेद 370 हटेगा तो जम्मू-कश्मीर में आग लग जाएगी, खून की नदियां बह जाएंगी.

शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35A हटने से यहां पिछड़ों, दलितों, आदिवासियों और पहाड़ियों को अपना अधिकार मिलने वाला है. उन्होंने कहा कि अगर ये नहीं हटता तो जम्मू-कश्मीर में ट्राइबल रिजर्वेशन नहीं मिलता. गृह मंत्री का ये दौरा सियासी मायनों में काफी अहम है. बतौर गृहमंत्री शाह पहली बार राजौरी पहुंचे थे. यहां पर उन्होंने विपक्ष पर करारा हमला किया. शाह ने कहा, ‘जम्मू कश्मीर में पहले जो परिसीमन हुआ था वह तीन परिवारों ने अपने लिए किया था. इन तीन परिवारों ने भ्रष्टाचार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी.’ उन्होंने कहा, 70 वर्ष तक जम्मू-कश्मीर पर तीन परिवारों ने राज किया, लोकतंत्र सिर्फ अपने परिवारों में बना दिया था. आप सभी को कभी भी ग्राम पंचायत, तहसील पंचायत, जिला पंचायत का अधिकार मिला था क्या? तीन परिवारों ने लोकतंत्र का, जम्हूरियत का मतलब सिर्फ पीढ़ियों तक शाासन करना निकाल दिया था.

अमित शाह ने कहा, देश में सरकार बदली, 2014 से नरेन्द्र मोदी जी प्रधानमंत्री बनें, तब मोदी जी ने सबसे पहले जम्मू-कश्मीर में पंचायत के चुनाव कराए. पहले जो सिर्फ तीन परिवार के पास था, आज 30 हजार के पास जम्मू-कश्मीर का शासन आया है.’ शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35A हटने से यहां पिछड़ों, दलितों, आदिवासियों और पहाड़ियों को अपना अधिकार मिलने वाला है. जम्मू-कश्मीर में तीन परिवारों ने भ्रष्टाचार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. उन्होंने आगे कहा कि आज मोदी जी पूरे जम्मू-कश्मीर के 27 लाख परिवारों को पांच लाख तक का स्वास्थ्य का पूरा खर्च उठा रहे हैं, 70 वर्ष में इन तीन परिवारों ने दिया क्या?

शाह ने कहा, ‘पहले आए दिन जम्मू-कश्मीर से पथराव की खबरें आतीं थीं. आज पथराव के समाचार नहीं आते. मोदी जी ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को सशक्त करने का काम किया है. आजादी से लेकर 2019 तक पूरे जम्मू-कश्मीर में 15 हजार करोड़ रुपये का औद्योगिक निवेश आया था.’ 2019 से अब तक इन तीन वर्ष में 56 हजार करोड़ रुपये का औद्योगिक निवेश पूरे जम्मू-कश्मीर में आया है.

Removal of 370 clears the way for reservation, Shah told when will these people get reservation

Asit Mandal

Share on:
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *