Type to search

अंग्रेजों से नहीं डरे, तो कोरोना से क्यों डरेंगे?

कोरोना मनोरंजन राजनीति राज्य

अंग्रेजों से नहीं डरे, तो कोरोना से क्यों डरेंगे?

Share

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कोरोना संक्रमित मरीजों के बेहतर इलाज को लेकर मुख्य सचिव और विशेषज्ञ चिकित्सकों के साथ विचार-विमर्श किया और राज्य में बनाए गए कोविड अस्पतालों और आइसोलेशन सेंटर में, इलाज के लिए सभी जरूरी मेडिसिन और उपकरण की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।
मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि कोरोना महामारी की रोकथाम और संक्रमित मरीजों के बेहतर इलाज के लिए राज्य सरकार ने सभी आवश्यक कदम उठाए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से संक्रमित मरीज जल्द से जल्द स्वस्थ हो और सभी राज्यवासी इस महामारी से सुरक्षित रहें , इसके लिए सरकार पूरी तरह सतर्क है। इस मौके पर मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह और एसोसिएशन ऑफ हेल्थ केयर प्रोवाइडर के झारखंड चैप्टर के प्रेसिडेंट डॉ योगेश गंभीर, डॉ अरविंद कुमार झा और डॉ दीपक वर्मा मौजूद थे

इससे पहले मुख्यमंत्री ने अब तक के कोरोना से संघर्ष का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। उन्होंने कहा कि हम यह संघर्ष मुख्यतः दो मोर्चों पर लड़ रहे हैं, पहला संक्रमण एवं दूसरा भूख और गरीबी के विरुद्ध। अपने सीमित संसाधनों के बावजूद पूरी शक्ति से लड़ रहे हैं और कुछ सफलता भी मिल रही है।

मुख्यमंत्री के बयान की कुछ अहम बातें

  • संक्रमण रोकने हेतु जहां हम जांच केंद्रों की संख्या बढ़ा रहे हैं,  वहीं हम अब रैपिड टेस्ट किट एवं पुल टेस्टिंग के माध्यम से और भी तेज़ी से बड़ी संख्या में जांच करेंगे ।
  • उत्साहवर्धक समाचार ये है कि हम अब तेजी से लोगों को संक्रमण मुक्त अर्थात् स्वस्थ भी कर रहे हैं।
  • भूख के विरुद्ध पुलिस थानों में सामुदायिक रसोई और मुख्यमंत्री किचन के मॉडल को पूरे देश में सराहा जा रहा है। सबसे बड़ी बात है कि कोई भी झारखंडी आज भूखा नहीं सो रहा है।
  • मैं राज्यवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि हर एक झारखंडी चाहे वो अन्य राज्यों में फँसे मज़दूर, छात्र, कामगार या फिर व्यवसायी हों, उन तक मदद ज़रूर पहुंचेगी।
  • नकारात्मक शक्तियां नफ़रत फैलाकर अपना हित साधने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन उन्हें कामयाब नहीं होने देना है।
  • याद रखें ‘हम झारखंडी हैं, जिन्होंने कभी अंग्रेजों के समक्ष घुटने नहीं टेके थे,  तो बड़ी से बड़ी बाधा से भी हम अवश्य पार पा लेंगे।
  • सभी से बस एक निवेदन है कि आपस में दूरी बनाएं, पर दिलों को जोड़े रखें।
Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *