Type to search

Russia का बड़ा ऐलान- यूक्रेन के दो क्षेत्रों को अलग देश की मान्यता, पुतिन का सेना भेजने का आदेश

जरुर पढ़ें दुनिया देश

Russia का बड़ा ऐलान- यूक्रेन के दो क्षेत्रों को अलग देश की मान्यता, पुतिन का सेना भेजने का आदेश

Share

रूस और यूक्रेन के बीच तनाव चरम पर है. इस बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने राष्ट्र को संबोधित किया. राष्ट्र को संबोधित करते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने जो ऐलान किया है उससे दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ सकता है. पुतिन ने ऐलान किया है कि रूस, पूर्वी यूक्रेन के दो अलग-अलग क्षेत्रों की स्वतंत्रता को मान्यता देगा. रूस, स्वघोषित गणराज्य डोनेत्स्क (Donetsk) और लुगंस्क (Lugansk) को अलग देश के रूप में मान्यता देगा.

रूस के राष्ट्रपति ने डोनेत्स्क पीपुल्स रिपब्लिक (डीपीआर) और लुगंस्क पीपुल्स रिपब्लिक (एलपीआर) की मान्यता से संबंधित कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर भी कर दिए हैं. रूसी राष्ट्रपति ने डीपीआर के प्रमुख डेनिस पुशिलिन और एलपीआर के प्रमुख लियोनिद पासचनिक के साथ संधि पर भी हस्ताक्षर किए हैं. रूस और डीपीआर, एलपीआर के बीच ये संधि मैत्री, सहयोग और पारस्परिक सहायता को लेकर है.

रूस के द्वारा यूक्रेन के अलगाववादियों को मान्यता देने के बाद अमेरिका ने सख्त ऐलान किया है. रूस (Russia) के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पूर्वी यूक्रेन में रूस समर्थित अलगाववादी क्षेत्रों (डोनेत्स्क और लुहांस्क) की स्वतंत्रता को मान्यता दे दी है. जिसके बाद संयुक्त राज्य अमेरिका ने सोमवार को पूर्वी यूक्रेन में विद्रोही क्षेत्रों के खिलाफ वित्तीय प्रतिबंधों की घोषणा की, जिन्हें रूस द्वारा नए सिरे से मान्यता दी गई है. अमेरिका (America) ने चेतावनी दी है कि आवश्यक्ता पड़ने पर और भी कार्रवाई करने के लिए तैयार हैं.पूर्वी यूक्रेन पर रूसी घोषणा पर व्हाइट हाउस से जारी बयान के बारे में बताते हुए प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा कि राष्ट्रपति बाइडन जल्द ही एक कार्यकारी आदेश जारी करेंगे जो अमेरिकी नागरिकों को यूक्रेन के तथाकथित डीएनआर (डोनेत्स्क) और एलएनआर (लुहांस्क) क्षेत्रों में नए निवेश, व्यापार और वित्तपोषण करने से प्रतिबंधित करेगा.

बयान में कहा गया है, ‘कार्यकारी आदेश यूक्रेन के उन क्षेत्रों में काम करने के लिए निर्धारित किसी भी व्यक्ति पर प्रतिबंध लगाने का अधिकार भी प्रदान करेगा. विदेश मंत्रालय और ट्रेजरी विभागों को जल्द ही इस बारे में अतिरिक्त विवरण दिया जाएगा.जेन साकी ने कहा कि ‘हम जल्द ही रूस की अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं के आज के घोर उल्लंघन से संबंधित अतिरिक्त उपायों की भी घोषणा करेंगे.

यूरोपीय संघ ने यूक्रेन के अलगाववादी क्षेत्रों को मान्यता देने के रूस के कदम को अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करार देते हुए कहा कि वह इसमें शामिल लोगों पर प्रतिबंध लगाएगा.यूक्रेन के राष्ट्रपति ने भी जो बाइडन के साथ चर्चा की.यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन के साथ नवीनतम घटनाओं पर चर्चा की. इस दौरान ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ बातचीत की योजना भी बनाई गई.

स्काई न्यूज के मुताबिक अपने संबोधन में पुतिन ने कहा कि नाटो में यूक्रेन का शामिल होना रूस की सुरक्षा के लिए सीधा खतरा है. हाल की घटनाएं यूक्रेन में नाटो के सैनिकों की तेजी से तैनाती के लिए कवर की तरह रही हैं. उन्होंने दावा किया यूक्रेन में नाटो ट्रेनिंग सेंटर नाटो के सैन्य ठिकाने के बराबर है. यूक्रेन का संविधान विदेशी सैन्य बेस की इजाजत नहीं देता. रूसी राष्ट्रपति ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए ये भी कहा कि यूक्रेन की योजना परमाणु हथियार बनाने की है.

Russia’s big announcement – recognition of two regions of Ukraine as separate country, Putin’s order to send army

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *