Type to search

रूस का आखिरी अल्टीमेटम, फौरन हथियार डाले यूक्रेन, स्थिति बेहद तनावपूर्ण

जरुर पढ़ें दुनिया देश

रूस का आखिरी अल्टीमेटम, फौरन हथियार डाले यूक्रेन, स्थिति बेहद तनावपूर्ण

Share

मुंबई – जिस बात की आशंका थी, वही होते दिख रहा है और 55 दिनों से चले आ रहे युद्ध के बाद रूस ने यूक्रेनी सैनिकों को ‘फौरन हथियार डालने’ को कहा है। रूस ने अल्टीमेटम जारी करते हुए बंदरगाह शहर मारियुपोल में यूक्रेनी सैनिकों को बिना एक पल की देर किए हथियार रखने और अपने घर जाने के लिए कहा है। माना जा रहा है कि, 55 दिनों की लड़ाई के बाद अब रूस परेशान हो गया है और वो किसी बड़े स्तर की लड़ाई की प्लानिंग कर रहा है, ताकि फौरन लड़ाई खत्म किया जा सके।

रूस ने मंगलवार को यूक्रेनी सैनिकों से “तुरंत हथियार डालने” को कहा है और बंदरगाह वाले शहर मारियुपोल में मौजूद यूक्रेनी सैनिकों को लड़ाई छोड़कर फौरन अपने हथियार डालने की चेतावनी दी है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने यूक्रेन की राजधानी कीव को सीधे तौर पर संबोधित किया है और कहा है कि, ‘यूक्रेन अपने सैनिकों को फौरन हथियार डालने को कहें और बेमतलब का प्रतिरोध दिखाना बंद करें’। रूस ने कहा है कि चंद घंटों में अगर यूक्रेनी सैनिक हथियार डाल देते हैं, तो रूस उनकी जान बख्शने की गारंटी ले रहा है अन्यथा अंजाम बहुत बुरे होंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, रूसी रक्षा मंत्रालयन ने स्थानीय समयानुसा आज दोपहर तक का अल्टीमेटम दिया है।

मारियुपोल शहर यूक्रेन का बंदरगाह शहर है, जहां पर पिछले कई हफ्तों से कब्जा करने की कोशिश में रूसी सैनिक लगे हुए हैं, लेकिन यूक्रेनी सैनिकों ने उन्हें रोक रखा है। पिछले हफ्ते भी रूसी सैनिकों ने दावा किया था, कि मारियुपोल पर रूस का नियंत्रण स्थापित हो गया है, लेकिन बाद में रूसी दावा गलत निकला था। लिहाजा, माना जा रहा है, कि यूक्रेन की सैनिकों ने जिस तरह से रूसी सैनिकों का डटकर मुकाबला किया है और जिस तरह से यूक्रेन ने मिसाइल हमले में रूसी जहाज को उड़ाया है, उससे रूस विचलित हो गया है और अब आखिरी लड़ाई के मूड में आ चुका है। वहीं, एक्सपर्ट्स का मानना है कि, रूस अब मारियुपोल शहर में तबाही मचाने वाली लड़ाई लड़ सकता है।

वहीं, यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की के एक सहयोगी ने कहा है कि, पूर्वी यूक्रेन में रूस का नया आक्रमण “बहुत सावधानी से” आगे बढ़ रहा है और मॉस्को डोनबास पर कब्जा करने की अपनी महत्वाकांक्षा को हासिल नहीं कर पाएगा। ओलेक्सी एरेस्टोविच ने एक टेलीविज़न संबोधन में कहा कि रूसी सैनिक यूक्रेन के बचाव में “संवेदनशील स्थानों” को खोजने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन उन्होंने दावा किया कि मास्को के पास तोड़ने के लिए “पर्याप्त ताकत नहीं है”। यूक्रेनी राष्ट्रपति के सहयोगी ने ना सिर्फ हथियार डालने की धमकी को पूरी तरह से खारिज कर दिया है, बल्कि उन्होंने 99 प्रतिशत की गारंटी देते हुए कहा है, कि रूसी आक्रमण पूरी तरह से फेल हो जाएगा।

रूस के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि उसके बलों ने पूर्वी यूक्रेन में रात भर दर्जनों हवाई हमले किए हैं, जिसमें मिसाइल हमले भी शामिल हैं। रूस ने कहा कि, उसके सैनिकों ने डोनबास क्षेत्र में 13 जगहों पर हमले किए हैं। रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि, अन्य हवाई हमलों ने “यूक्रेन की 60 सैन्य संपत्ति” को ध्वस्त किया है, जिसमें पूर्वी सीमा के करीब के शहर भी शामिल हैं। वहीं, रूसी रक्षा मंत्रासय ने दावा किया है कि, रात में रूसी सैनिकों ने पूरे यूक्रेन में 1260 लक्ष्यों को निशाना बनाया है और ये हमले तोप, टैंक और मिसाइल से किए गये हैं। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि रूसी विमान-रोधी बलों ने डोनेट्स्क क्षेत्र में एक यूक्रेनी मिग -29 जेट को भी मार गिराया।

Russia’s last ultimatum, Ukraine immediately surrenders, the situation is very tense

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *