Type to search

संजू

बड़ी खबर मनोरंजन

संजू

Share

मां नरगिस दत्त और पत्नी रिचा शर्मा की मौत कैंसर से हुई, अब पता चला है कि संजय दत्त को फेफड़े में स्टेज3 कैंसर है।

हिन्दी सिनेमा के इस बड़े एक्टर की सबसे बड़ी खूबी है उनका जुझारूपन…एक बार फिर उन्हें इसे साबित करना है….कर हर मैदान फतह

Sanju: KAR HAR MAIDAAN FATEH Full Video Song | Ranbir Kapoor | Rajkumar Hirani

2018 में एक फिल्म आई। रिलीज के पहले दिन इसने सबसे बड़ी ओपनिंग का रिकार्ड बनाया और तीसरे दिन हिन्दी सिनेमा में एक दिन में सबसे बड़े कलेक्शन का।  एक फिल्म कलाकार की जीवनी पर बनी ये फिल्म साल की सबसे बड़ी हिट साबित हुई, हिन्दी सिनेमा के इतिहास की ये दूसरी सबसे बड़ी हिट फिल्म है। ₹586.85 करोड़ की कमाई करने वाली ये फिल्म है…संजू।

संजू …वो नाम जिससे मां नरगिस अपने बेटे को बुलाती थी। वो मां जो जाने के बाद भी कभी बेटे से जुदा नहीं हुई।

संजू के लिए नरगिस क्या थी? मां ….जो हर बात में, हर चीज में हमेशा बेस्ट होती है।  

अपनी जिंदगी में खुद पर बनी फिल्म  देखना…उसमें काम करना कम ही एक्टर्स को नसीब होता है। 

इतने यंग एक्टर की बायोग्राफी लिखी गई, उस पर फिल्म बनी तो इसलिए कि वो एक साथ अच्छे भी हैं और बुरे भी, नाकाम भी कामयाब भी…उन्होंने बेशुमार कामयाबी भी देखी और असहनीय त्रासदी भी… इतिहास पलट कर देख लीजिए, एक जिंदगी में इतनी सारी कहानियां कहीं नहीं मिलेंगी

वो टैटू भी बनवाते हैं तो इतने.. कि लगता है कभी खत्म ही नहीं होंगे। शिव भक्त संजू के बायें कंधे पर टैटू है- ऊं नम: शिवाय, इसके नीचे शिव गायत्री मंत्र, उसके नीचे कलाई पर एक सांप और फिर ऊर्दू में दिलनवाज( पत्नी मान्यता का असली नाम) , दाहिने कंधे पर ऊपर आग उगलता ड्रैगन, उसके नीचे दो जापनी समुराई योद्धा , और कलाई पर शेर और अंग्रेजी में लिखा हुआ samba rules… टैटू इससे ज्यादा भी किसी के हो सकते हैं, लेकिन गौर करने वाली चीज यहां वेरायटी है।  

एक एक्टर के तौर पर संजू 90 और  2000 के दशक के सबसे कामयाब एक्टर्स में से हैं। उनकी फिल्में सिर्फ हिट नहीं होतीं, साल की सबसे बड़ी हिट होती हैं..जैसे करियर की दूसरी फिल्म विधाता जो 1982 की सबसे बड़ी हिट थी, साजन जो 1991 की सबसे बड़ी हिट थी। इसी तरह खलनायक जो 1993 की दूसरी सबसे बड़ी हिट फिल्म थी। 2008 में फिल्मफेयर ने हिन्दी सिनेमा की 100 सबसे बड़ी हिट फिल्मों की लिस्ट तैयार की, इसमें 12 अकेले संजू की हैं।

अवार्ड बहुत सारे एक्टर्स को मिलते हैं, लेकिन संजू की केटेगरी थोड़ी अलग है। मिशन कश्मीर में उनके काम की भारत के राष्ट्रपति ने सराहना की और उन्हें राष्ट्रपति भवन आने का निमंत्रण दिया। लगे रहो मुन्ना भाई के लिए संजू को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अवार्ड से नवाजा। भारतीय सिनेमा के सौ साल के इतिहास में किसी दूसरे कलाकार की सर्वोच्च स्तर पर ऐसी इज्जत अफजाई नहीं हुई है। हथियार रखने के जुर्म में उन्हें पांच साल की सजा मिली तो महाराष्ट्र सरकार ने उनका पेरोल इतनी बार बढ़ाया कि मुंबई हाईकोर्ट को आगे आकर दखल देना पड़ा। एक बार तो सरकार ने पेरोल का कानून ही बदल डालने की कोशिश की थी।

ये सब उस एक्टर के लिए जिसकी पहचान फिल्मों से ज्यादा ड्रग्स, अवैध हथियार, मुंबई सीरियल ब्लास्ट, लेदर जैकेट, लंबे बाल, बिग मसल्स, शराब की लत और सीरियल लवर की रही है। ये वो शख्स है जो 1981 में महज 22 साल की उम्र में स्टार बनता है और अगले ही साल ड्रग्स रखने के जुर्म  में पांच महीने जेल मे रहता है। जेल से बाहर आता है ..विधाता रिलीज होती है ..फिर 1983 में अपने बंगले में फायरिंग करने के लिए अरेस्ट होता है। तीन साल बाद 1986 में फिल्म नाम के साथ वो ए लिस्ट एक्टर्स में शामिल होता है। फिर रिचा शर्मा से शादी करता है। कुछ साल बीतते हैं फिर 93 में मुंबई सीरियल ब्लास्ट के सिलसिले में उसे गिरफ्तार किया जाता है। एक ऐसा मामला जिससे जुड़े हर शख्स को कम से कम आजीवन कारावास की सजा मिली, लेकिन संजू पर सिर्फ आर्म्स एक्ट की धारा लगी और वो पांच साल में ही जेल से बाहर आ गया। 2002 में गैंग्सटर छोटा शकील से संजू की बातचीत का सनसनीखेज ऑडियो सामने आया।

उस की जीवनी लिखने वाले उस्मान ने पूछा कि -जब आप पीछे लौट कर अपनी जिंदगी देखना चाहते हैं तो ऐसा क्या है जिसे आप बदलना चाहेंगे। संजय का जवाब था –कुछ नहीं, मैं फिर से वही जिंदगी जीना चाहूंगा

संजू को जो बात दूसरों से अलग करती है वो क्या है?

पहली चीज है उसमें मुश्किल हालात से लड़ने का हौसला। आप उसकी जिंदगी की ट्रेजेडीज को देखिए और उसकी सबसे बड़ी हिट फिल्मों की फेहरिस्त देखिए। जितनी बड़ी ट्रेजेडी, उसके बाद उतनी ही बड़ी कामयाबी। संजू जब पर्दे पर नाम, खलनायक, हथियार, वास्तव, या गुमराह  में नजर आता है तो दरअसल वो अपनी ही जिंदगी के एक हिस्से को जी रहा होता है। उसकी फिल्म उसकी जिंदगी की एक्सटेंशन हैं।

संजू की दूसरी बड़ी चीज ये है कि उसमें एक खास किस्म की साफगोई है, ईमानदारी है, उसमें अपनी गल्तियां और गुनाह कबूल करने की ताकत है।  एक बार किसी ने उससे पूछा – ड्रग्स लिया है कभी ? संजू का जवाब सुनिए

दुनिया में ऐसा कोई नशा नहीं, जो नहीं किया, लेकिन मुझे पसंद आई कोकीन और हेरोइन। कोकीन को सूंघा जाता है, हेरोइन को स्मोक भी कर सकते हैं और इंजेक्ट भी । जितना ज्यादा ड्र्ग्स उसने लिया था, उसके बाद अमेरिका के डाक्टर हैरान थे कि ये बंदा अब तक जिन्दा कैसे है ?संजू ने ड्रग्स की जंग जीती जो किसी के लिए आसान नहीं होती, और इसमें सबसे बड़ी मदद की मां नरगिस ने। मां की आवाज रोज टेपरिकार्ड्रर पर सुन-सुन कर संजू ने वो हौसला पाया जो ड्रग्स के खिलाफ जंग में जीतने के लिए जरूरी होता है।

संजू के लिए प्यार भी ड्रग्स की तरह एक नशा था। टीना मुनीम के साथ जब संजू को प्यार हुआ तो एक बार एक शख्स को संजू ने सिर्फ इसलिए नंगाकर बांध कर पीटा क्योंकि वो टीना के साथ एक जगह नजर आया था।  

माधुरी के साथ प्यार में संजू इस कदर दीवाने थे कि अगर उसी स्टूडियो में माधुरी भी किसी और फिल्म की शूटिंग कर रही होती थीं, तो संजू अपना काम छोड़ उनके पास आ जाते थे और वो चाहे मेक अप कर रही हों या सीन डिस्कस …वो वहां आ जाते और चाहे वहां सौ लोग क्यों न खड़े हों,  माधुरी के करीब जाकर  I love you  लगातार तब तक बोलते रहते थे, जब तक कि माधुरी सेट से चली न जाएं।

संजू ने खुद कबूल किया है कि उनका तीन सौ से ज्यादा औरतों से रिश्ता रहा था। ऐसा वो कैसे करते थे, जवाब सुनिए संजू से

अगर आपको किसी औरत से प्यार हो जाए, तो आप उसके सामने बच्चे बन जाओ, उसे महसूस करने दो कि आप कमजोर हो और सिर्फ वही है जो आपको जमाने से बचा रही है, उसे आप पर शासन करने दो और ये  एहसास दिलाओ कि आपको ये अच्छा लग रहा है।

अभी सड़क 2 रिलीज होने वाली है। केजीएफ 2 का भी नया पोस्टर जारी हुआ है। संजू में अभी बहुत सिनेमा बाकी है।

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *