Type to search

इस द‍िवाली चाइनीज माल को कहें ना, खरीदें स्वदेशी सामान

जरुर पढ़ें देश

इस द‍िवाली चाइनीज माल को कहें ना, खरीदें स्वदेशी सामान

Share

त्योहारी मौसम शुरू हो गया है। लोग उत्साहपूर्वक खरीदारी करने निकलने लगे हैं। दीपावली त्योहार को लेकर लोग खरीदारी कर रहे हैं। इसमें चीनी उत्पादों का बहिष्कार जोर-शोर से हो रहा है। खरीदार चीन के सामान को हेय दृष्टि से देख रहे हैं और इसकी खरीदारी से बच रहे हैं। इससे चीन का माल बेचने वाले दुकानदारों में चिंता बढ़ गई है।

द‍िल्‍ली के बाजारों में चाइना का माल नाममात्र को नजर आ रहा है और लोग चाइनीज माल की जगह स्‍वदेसी माल खरीद पर ज्‍यादा भरोसा जता रहे हैं, जैसा की पिछले दिनों पीएम नरेंद्र मोदी ने भी स्‍वदेसी को अपनाने पर ज़ोर दिया था. इस बीच देखा जाए तो कोरोना का बुरा दंश झेल चुके भारतीय लोग दि‍वाली की शॉप‍िंग स्‍वदेसी सामान से करना पसंद कर रहे हैं. इस बार हर कोई स्‍वेदशी माल की खरीद पर ज्‍यादा भरोसा जताते हुए उसको अपना रहा है. पीएम मोदी के संबोधन के बाद इस पर लोगों ने ओर अमल क‍िया है. इस बार लोग अपने घरों की सजावट के सामान से लेकर दूसरी चीजों में स्‍वेदशी को तरजीह दे रहे हैं. इस सभी को भांपते हुए मार्केट में दुकानदार भी चाइनजी माल को पहले ही ना करते हुए स्‍वदेसी को मंगा चुके हैं. इसकी डिमांड भी खूब हो रही है. इसकी वजह से दिवाली पर चाइनीज वस्तुओं का बाजार पूरी तरह से ठंडा पड़ चुका है.

दिवाली में इलेक्ट्रॉनिक समानों की खरीददारी भी बहुत होती है। डेकोरेशन के लिए भी हम लाइट्स समेत कई इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदते हैं। मार्केट में चीनी सामानों का कब्जा है। सीमा पर चीन हमारे खिलाफ लगातार साजिश कर रहा है। ऐसे में प्रधानमंत्री की अपील है कि हम लोकल को वोकल करें यानी विदेशी की जगह पर स्वदेशी सामानों को खरीदें।

माना जाता है क‍ि पूरे साल की खरीदारी एक तरफ और द‍िवाली की खरीदारी एक तरफ होती है. ऐसे में चीन के माल की ड‍िमांड नहीं होना उसकी अर्थव्‍यवस्‍था को बड़ा नुकसान पहुंचाने वाला है. भारत चीन के ल‍िए बहुत बड़ी मार्केट है. इसके बाद लोगों ने चाइनीज झालरों और पटाखों से रुख मोड़ लिया है. लोग दिवाली पर देसी झालरें लगाने के साथ ही क्रोकरी, गिफ्ट्स व सजावट का सामान भी देसी ही प्रयोग करेंगे. ग्राहकों की मंशा देखते हुए मार्केट में व्यापारियों ने भी देसी सामान मंगाया है.

द‍िल्‍ली के मार्केट्स पर नज़र डालें तो इस समय बाजार में चाइनीज माल की डिमांड कम है. पिछले साल भी ब‍िक्री कम ही हुई थी, लेकिन इस साल लोगों ने चाइनीज सामानों को पूरी तरह अलग कर दिया है. इसकी वजह से देसी सामान मंगाया है. इससे दिवाली पर खूब बिकने वाले चाइनीज वस्तु की ड‍िमांड को मार्केट से खत्‍म सा कर द‍ि‍या गया है. दुकानदार भी राष्ट्रहित में चाइनीज सामान का बहिष्कार करते हुए इस वर्ष दिवाली के लिए देसी सामान को मंगा रहे हैं.

इसके अलावा अगर आप द‍िवाली पर कपड़ा और नए ट्रेंडी कपड़े की खरीद में द‍िलचस्‍पी रखते हैं तो लाजपत नगर को बेस्‍ट मार्केट के रूप में देख सकते हैं. यहां पर आपको मशहूर डिजाइनर्स के कपड़ों के डुप्लीकेट कपड़े भी आसानी से मिल जाएंगे, जो देखने में बिल्कुल असली ही लगेंगे. इसके अलावा यहां कई ब्रांडेड शोरूम भी हैं और यहां दिवाली के मौके पर कई ऑफर भी उपलब्‍ध हैं.

दिवाली पर जलाए जाने वाले पटाखे, फुलझड़ियां आपके त्योहार को जितना संवारती हैं, जरा सी अनदेखी से बिगाड़ भी सकती हैं। इसलिए इनका इस्तेमाल करते समय विशेष सावधानी रखें। यहां तक दीपक जलाने में भी सावधानी रखें। बच्चों को इनसे दूर रखें। ऐसे किसी सामान के आसपास दीपक न रखें, जो आग पकड़ सकते हों।

Say no to Chinese goods this Diwali, buy indigenous goods

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *