Type to search

बिहार में नए राजनीतिक समीकरण का संकेत

जरुर पढ़ें देश राजनीति

बिहार में नए राजनीतिक समीकरण का संकेत

Share

बिहार में कल तक महागठबंधन में साथ रहे कांग्रेस व राष्‍ट्रीय जनता दल के बीच तल्‍खी बढ़ती जा रही है। ताजा बयान बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष अनिल शर्मा का है। उन्‍होंने जनता दल यूनाइटेड (JDU) को आरजेडी से अधिक धर्मनिरपेक्ष (Secular) करार दिया है।

उन्होंने कहा है कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर सरकार चला रहे हैं, लेकिन धर्मनिरपेक्षता के मुद्दे पर उनका अपना अलग स्‍टैंड है। जबकि, लालू प्रसाद यादव ने न केवल भागलपुर दंगे की रिपोर्ट दबाकर रखी, बल्कि बीजेपी के साथ मिलकर सरकार भी चलाई। महागठबंधन से अलग होने के बाद अब कांग्रेस के इस बयान के बाद बिहार में सियासत गर्म हो गई है।

इसे किसी नए राजनीतिक समीकारण का संकेत भी माना जा रहा है। लालू प्रसाद के बिहार आने के ऐन पहले कांग्रेस ने उनपर बड़ा हमला बोला है। कांग्रेस ने कहा है कि लालू ने धर्म निरपेक्षता को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया है। जिन्होंने भागलपुर दंगे के मुख्य आरोपी को सद्भावना पुरस्कार के लिए सरकारी बंगला तक मुहैया करा दिया।

कांग्रेस के इस बयान पर अब सियासत तेज है। इसपर प्रतिक्रिया देते हुए आरजेडी के प्रवक्‍ता मृत्‍युंजय तिवारी ने कहा कि कांग्रेस के कुछ नेता अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं। वे बकबक कर रहे हैं। ऐसे नेता पार्टी को दीमक की तरह चाट रहे हैं। उधर, जेडीयू प्रवक्‍ता अभिषक झा ने कहा कि यी नीतीश कुमार का काम है कि विरोधी भी तारीफ करते हैं। बीजेपी के प्रवक्‍ता अरविंद सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने काम किया है। जबकि, लालू ने परिवार का विकास किया है। बीजेपी नीतीश कुमार के साथ है।

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *