Type to search

कहीं छिपाई जा रही झुग्गियां तो कहीं भगाए जा रहे बंदर और कुत्ते… G-20 बैठक से पहले चर्चा में रहे ये मामले

Uncategorized

कहीं छिपाई जा रही झुग्गियां तो कहीं भगाए जा रहे बंदर और कुत्ते… G-20 बैठक से पहले चर्चा में रहे ये मामले

Share
G20 meeting

भारत ने एक दिसंबर से औपचारिक रूप से जी-20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता संभाली है. शिखर सम्मेलन के लिए जी-20 देशों के प्रतिनिधि देश के कई शहरों का दौरा कर रहे हैं. इस शिखर सम्मेलन को हिट बनाने के लिए भारत ने कई तैयारियां की हैं. इसी बीच कुछ ऐसी तस्वीरें भी सामने आई हैं जो हैरान करने वाली हैं. बीते दिसंबर के महीने में शिखर सम्मेलन के लिए जी-20 देशों के प्रतिनिधि मुंबई पहुंचे थे.

मुंबई –
इस दौरान मुंबई की झुग्गी झोपड़ियों को पर्दे की दीवार से ढकने की तस्वीरें सामने आई थीं. स्लम एरिया को कुछ इस तरह से ढका गया था कि किसी की इस पर नजर भी न पड़ पाए. एक रिपोर्ट के मुताबिक, माहिम, वर्ली, बांद्रा से लेकर बोरिवली तक के इलाकों में इस तरह के पर्दे देखे गए थे. इन इलाकों के रहने वाले लोगों का कहना था कि उन्होंने यहां इतनी साफ सफाई पहले कभी नहीं देखी थी.

उत्तर प्रदेश –
उत्तर प्रदेश के आगरा में भी प्रशासन की ओर से जी-20 प्रतिनिधियों के आने से पहले ताजमहल को बंदरों और आवारा कुत्तों से छुटकारा दिलाने की कोशिश की जा रही है. जी-20 प्रतिनिधि अगले महीने आगरा आ सकते हैं. नगर निगम आयुक्त निखिल टीकाराम फंडे ने शुक्रवार को बताया था कि शहरभर से आवारा कुत्तों को पकड़ा जा रहा है. दरअसल, पिछले साल सितंबर में दो विदेशी महिलाएं को ताजमहल परिसर में बंदरों ने काट लिया था. ऐसी घटना न हो, इसलिए ये तैयारियां की जा रही हैं. आयुक्त ने बताया कि 10,000 बंदरों को पकड़ने के लिए वन विभाग से अनुमति मांगी थी, लेकिन केवल 500 बंदरों को पकड़ने की अनुमति मिली है.

दिल्ली –
देश की राजधानी से भी जी-20 से पहले चौंकाने वाली बात सामने आई है. कड़ाके की ठंड के बीच, दक्षिण पश्चिम दिल्ली के धौला कुआं सर्कल में झुग्गी के निवासियों को लोक निर्माण विभाग की ओर से 15 दिनों में क्षेत्र खाली करने के लिए एक निष्कासन नोटिस जारी किया गया है. निवासियों ने आरोप लगाया कि आगामी G20 शिखर सम्मेलन की तैयारियों के कारण ऐसा किया जा रहा है. हालांकि विभाग के अधिकारियों ने इससे इनकार किया और कहा कि यह अतिक्रमण हटाने के अभियान का हिस्सा था.

इससे पहले दिसंबर में एक आधिकारिक आदेश में कहा गया था कि दिल्ली में मार्च में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन से पहले, कश्मीरी गेट और कनॉट प्लेस के आसपास के भिखारियों को हटा दिया जाएगा. इन्हें दिल्ली सरकार की झुग्गी प्रबंधन एजेंसी, दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (डीयूएसआईबी) की ओर से चलाए जा रहे आश्रय गृहों में स्थानांतरित कर दिया जाएगा. इस आदेश के तुरंत बाद विवाद खड़ा हो गया और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इस आदेश को दिल्ली सरकार की ओर से दुनिया की नजरों से भिखारियों के छिपाने का प्रयास करार दिया था. हालांकि, डीयूएसआईबी के एक अधिकारी ने आरोप से इनकार किया और कहा कि भिखारियों को ठंड के मौसम में भोजन, चिकित्सा देखभाल और उचित आश्रय प्रदान किया जाएगा.

कोलकाता –
जी-20 कार्यक्रमों की तैयारियों के बीच पश्चिम बंगाल के कोलकाता में सिंगर अरिजीत सिंह का शो रद्द किया गया है. राज्य सरकार ने कहा कि अरिजीत सिंह का इको पार्क शो रद्द कर दिया गया है क्योंकि यह जी-20 कार्यक्रमों से टकराएगा. पश्चिम बंगाल के मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा था कि अरिजीत सिंह के कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी गई क्योंकि जी-20 कार्यक्रम भी उसी क्षेत्र में निर्धारित है.

फिरहाद हाकिम ने था कहा कि भारत की जी-20 (G-20) की अध्यक्षता को चिह्नित करने वाला कार्यक्रम इको पार्क के ठीक सामने कन्वेंशन हॉल में होगा (वह स्थान जहां अरिजीत सिंह का संगीत कार्यक्रम होना था). कई विदेशी गणमान्य लोगों के उस कार्यक्रम में शामिल होने की संभावना है. मंत्री ने कहा कि अरिजीत सिंह के शो के लिए भारी भीड़ इकट्ठी होती और इसे संभालना मुश्किल होता. पुलिस को लगा कि इतना बड़ा आयोजन करने से कानून-व्यवस्था की समस्या हो सकती है. अरिजीत सिंह (Arijit Singh) का कॉन्सर्ट 18 फरवरी को होने वाला था, लेकिन अब सरकार ने कहा है कि शो को कहीं और शिफ्ट किया जाना चाहिए.

Slums are being hidden somewhere and monkeys and dogs are being driven away… these matters were discussed before the G-20 meeting

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *