Type to search

जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल में अब तक 230 गिरफ्तार

देश

जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल में अब तक 230 गिरफ्तार

Share
Friday prayers

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा के सिलसिले में अब तक 230 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यूपी के एडीजी कानून व व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि कल जो घटना हुई उसमें कुछ जनपदों में कुछ व्यक्तियों ने शांति व्यवस्था भंग करने की कोशिश की, जिनकी पहचान की जा चुकी है. उनकी गिरफ्तारी बहुत तेजी से की जा रही है. अब तक 230 व्यक्तियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है.

इसके साथ प्रशांत कुमार ने कहा कि स्थिति अभी नियंत्रण में है. दोषियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई होगी. इसके अलावा उनकी संपत्ति को भी जब्त करने की कार्रवाई होगी.सार्वजनिक और निजी संपत्तियों को जो क्षति हुई है उसकी वसूली भी न्यायिक प्रक्रिया के तहत की जाएगी.

जाने कहां कितने हुए गिरफ्तार
यूपी के एडीजी कानून व व्‍यवस्‍था प्रशांत कुमार के मुताबिक, प्रयागराज में 68, हाथरस में 52, सहारनपुर में 48, अंबेडकरनगर में 29, मुरादाबाद में 25 और फिरोजाबाद में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के प्रयागराज और सहारनपुर समेत कई जिलों में पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ भाजपा की निलंबित नेता नुपुर शर्मा की कथित आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर शुक्रवार (10 जून) को जुमे की नमाज के बाद लोगों ने नारेबाजी और पथराव किया था. लखनऊ में उत्तर प्रदेश पुलिस मुख्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि सहारनपुर, मुरादाबाद, रामपुर और लखनऊ जिलों से नमाज के बाद नारेबाजी की सूचना मिली थी. उन्होंने कहा कि सहारनपुर, मुरादाबाद और रामपुर में जुमे की नमाज के बाद लोगों ने सड़कों पर नारेबाजी की थी. पुलिस के मुताबिक, लखनऊ के चौक इलाके में स्थित टीले वाली वाली मस्जिद के अंदर भी कुछ देर के लिए नारेबाजी हुई थी.

सहारनपुर से मिली सूचना के अनुसार, नमाज के बाद कुछ लोगों ने हाथों मे तख्तियां लेकर नारेबाजी की थी. पुलिस ने बताया कि नेहरू बाजार इलाके में कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. जबकि देवबंद में भी नमाज के बाद मदरसे के कुछ छात्रों ने पोस्टर-बैनर लेकर नारेबाजी की थी.

So far 230 arrested in the ruckus after Friday prayers

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *