Type to search

आज पहलवानों से फिर मुलाकात करेंगे खेल मंत्री अनुराग ठाकुर

खेल देश

आज पहलवानों से फिर मुलाकात करेंगे खेल मंत्री अनुराग ठाकुर

Share
wrestlers

देश के नामचीन पहलवान जंतर मंतर पर भारतीय कुश्ती महासंघ के खिलाफ लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. विनेश फोगाट, बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक समेत करीब 30 पहलवानों ने कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर यौन शोषण समेत कई गंभीर आरोप लगाए हैं. खेल मंत्रालय ने इस मामले को गंभीरता से लिया है. खेल मंत्री अनुराग ठाकुर शुक्रवार को पहलवानों से मुलाकात करेंगे.

इससे पहले पहलवानों ने गुरुवार को अनुराग ठाकुर से मुलाकात की और उनके साथ डिनर किया था. पहलवानों और खेल मंत्री के बीच ये बैठक 10 बजे से करीब पौने दो बजे तक चली. उधर, बृजभूषण शरण सिंह के इस्तीफे पर सस्पेंस बना हुआ है. सूत्रों के मुताबिक, कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को फोन कर 24 घंटे के अंदर इस्तीफा देने का आदेश सुनाया दिया गया है. हालांकि, बृजभूषण शरण का कहना है कि मैं इस्तीफा नहीं दूंगा. मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं. बृजभूषण शरण ने 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है.

रात 10 बजे शुरू हुई बैठक देर रात करीब पौने दो बजे तक चली. हालांकि आज फिर से खेल मंत्री और खिलाड़ियों के बीच बैठक होगी. सूत्रों के मुताबिक, कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को फोन किया गया और 24 घंटे के अंदर इस्तीफा देने का आदेश सुनाया दिया गया है. हालांकि, बृजभूषण शरण सिंह अभी इस्तीफा देने को तैयार नहीं हैं. उनका कहना है कि वे खेल महासंघ की 22 जनवरी को आयोजित इमरजेंसी बैठक के बाद आगे का निर्णय लेंगे. माना जा रहा है कि अगर बृजभूषण तय समय में इस्तीफा नहीं देते हैं तो पद से हटा दिया जाएगा.

बृजभूषण सिंह ने कहा कि मेरे ऊपर जो भी आरोप लगाए गए हैं, वह दीपेंद्र हुड्डा और कांग्रेस की तरफ से प्रायोजित हैं. बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि पहलवानों का ये धरना शाहीन बाग जैसा प्रायोजित है. मैं इस्तीफा नहीं दूंगा. उन्होंने कहा कि ये चंद वही खिलाड़ी हैं, जिनका करियर खत्म हो चुका है. वह मेरे ऊपर आरोप लगा रहे हैं. लेकिन मैं किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार हूं. उन्होंने कहा कि जब मैंने कुछ किया ही नहीं है तो फिर किसी बात का डर नहीं है.

क्या है मामला?
भारतीय पहलवान विनेश फोगाट, बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक समेत 30 पहलवानों ने बुधवार को कुश्ती महासंघ और उसके अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला और विरोध-प्रदर्शन शुरू किया. खिलाड़ियों का कहना था कि महिला पहलवानों के साथ यौन शोषण किया जाता है. उन्हें मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है. WFI अध्यक्ष सरेआम पहलवानों के साथ अभद्रता करते हैं और गाली-गलौज करते हैं. पहलवानों का दावा है कि कुश्ती महासंघ नियमों के नाम पर रेसलर्स का उत्पीड़न कर रहा है. पहलवानों ने कुश्ती महासंघ को भंग करने की मांग उठाई है. वहीं, आरोपों पर बृजभूषण शरण सिंह ने सफाई दी और कहा कि अगर आरोप सही साबित हुए तो मैं फांसी पर लटकने के लिए तैयार हूं.

Sports Minister Anurag Thakur will meet wrestlers again today

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *