Type to search

श्रीलंका बनता जा रहा है पाकिस्तान? महंगाई से आवाम परेशान

दुनिया

श्रीलंका बनता जा रहा है पाकिस्तान? महंगाई से आवाम परेशान

Share
Pakistan

श्रीलंका की हालत से हर कोई वाकिफ है, कैसे सोने की लंका देखते ही देखते कंगाल हो गई. कुछ ऐसे ही हालात नजर आ रहे हैं दूसरे पड़ोसी पाकिस्तान में जहां आर्थिक बदहाली का आलम ये है कि बाजार, शादी हॉल जल्द बंद करने की नौबत आ गई. यही नहीं देश में एलपीजी गैस प्लास्टिक के थैलों में लाई जा रही है. जानते है कैसे श्रीलंका की राह पर चल रहा है पाकिस्तान?

जहां एक ओर श्रीलंका चीन के कर्ज तले दबकर कंगाली की कगार पर पहुंच गया. वहीं पाकिस्तान पर भी कर्ज का बोझ लगातार बढ़ता जा रहा है, जबकि विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आती जा रही है. डॉन के मुताबिक, मार्च 2022 तक पाकिस्तान का कुल कर्ज लगभग 43 लाख करोड़ पाकिस्तानी रुपये हो चुका था. इसमें सबसे ज्यादा लेनदारी इमरान खान के कार्यकाल में रही. उन्होंने 3 ही साल में अपनी जनता पर रोज लगभग 1400 करोड़ रुपए का कर्ज डाला. कुल मिलाकर पाकिस्तान की इकनॉमी अपने सबसे बुरे दौर में है.

देश का विदेशी मुद्रा भंडार बीते महीने 294 मिलियन डॉलर तक कम होकर 5.8 अरब डॉलर रह गया है. बाहरी कर्ज के भुगतान के चलते ये कमी दर्ज की जा रही है. गौरतलब है कि श्रीलंका में भी लगातार कम होता गया विदेशी मुद्रा भंडार इतिहास के सबसे बड़े आर्थिक संकट का कारण बना है. इसके अलावा वित्तीय वर्ष 2022-23 के जुलाई-अक्टूबर तिमाही के दौरान पाकिस्तान का राजकोषीय घाटा जीडीपी का 1.5 फीसदी रहा. पाकिस्तानी रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ख्वाजा ने भी कहा है कि देश ‘गंभीर’ स्थिति से गुजर रहा है.

पाक इकॉनमी का हाल ऐसा हो चुका है, आम नागरिक को मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने में भी देश असमर्थ सा नजर आ रहा है. वित्तीय बोझ को कम करने के लिए बिजली बचाने की मुहिम तेज हो गई है. अब ‘वर्क फ्रॉम होम पॉलिसी’ लागू करके सरकारी कार्यालयों में बिजली का उपयोग कम हो. जुलाई 2023 तक इलेक्ट्रिक पंखों का उत्पान सस्पेंड रखा जाएगा, जबकि बल्ब का उत्पादन बंद करने का फैसला किया गया है.

यहां लोगों को प्लास्टिक के गुब्बारों और प्लास्टिक बैग्स में LPG (रसोई गैस) लेने को मजबूर हैं. बीते दिनों सोशल मीडिया इस तरह के कई वीडियो वायरल हुए थे, जिनमें पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के निवासियों को प्लास्टिक की थैलियों में रसोई गैस भरते और ले जाते दिखाया गया है. इस तरह से लोग रसोई गैस की कमी के चलते इसका भंडारण कर रहे हैं. एलपीजी आपूर्ति में कमी के कारण हंगू जैसे कई शहर के लोग बीते कुछ समय से बिन गैस के जीवन-यापन करने को मजबूर हैं. रिपोर्ट की मानें तो पाकिस्तान में कमर्शियल गैस सिलेंडर 10,000 पाकिस्तानी रुपये में मिल रहा है.

गंभीर नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान ने बढ़ते कर्ज को काबू में रखने के लिए मंगलवार को विभिन्न उपायों की घोषणा की. इनमें बाजारों और मैरिज हॉल को जल्दी बंद करना भी शामिल है. कैबिनेट ने ऊर्जा बचाने और आयातित तेल पर निर्भरता कम करने के लिए राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण योजना को मंजूरी दी है. रक्षा मंत्री के मुताबिक, बाजार रात 8.30 बजे बंद हो जाएंगे, जबकि मैरिज हॉल 10 बजे बंद होंगे. उन्होंने कहा कि इससे 62 अरब रुपये बच सकेंगे. आसिफ ख्वाजा ने कहा कि पाकिस्तान बिजली की खपत के मौजूदा स्तर को बनाए रखने में सक्षम नहीं है. इसलिए देश भर में सभी सरकारी मीटिंग्स दिन में ही होंगी.

Sri Lanka becoming Pakistan? People worried due to inflation

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *