Type to search

1 नवंबर से शुरू होगा कॉलेजों का नया सेशन

देश

1 नवंबर से शुरू होगा कॉलेजों का नया सेशन

Share
college-school

शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते खतरे और देश में लागू अनलॉक 4.0 (Unlock 4.0) के बीच कॉलेज खोलने को लेकर बड़ा ऐलान किया है। शिक्षा मंत्रालय ने घोषणा करते हुए कहा कि 1 नवंबर से देशभर में ग्रेजुएशन (graduation) की क्लास शुरू होगी। मंत्रालय ने इसको लेकर शेड्यूल जारी कर दिया है। इसके तहत देशभर के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों का नया शैक्षणिक सत्र इस बार एक नवंबर में शुरू होगा। लॉकडाउन अवधि में छूटी पढ़ाई की भरपाई के लिए कॉलेजों में अब सप्ताह में छह दिन पढ़ाई होगी।

बड़ी खबर यह है कि यूजीसी ने विश्वविद्यालयों में सर्दी, गर्मी की छुट्टियां भी खत्म कर दी है। यूजीसी ने कोविड-19 मामलों की बढ़ती संख्या के कारण कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में प्रथम वर्ष के छात्रों (फ्रेशर्स) के लिए शैक्षणिक कैलेंडर को एक बार फिर संशोधित किया है। नवीनतम कैलेंडर के अनुसार, फ्रेशर्स के लिए शैक्षणिक सत्र अब सितंबर के बजाय नवंबर में शुरू होगा और यह देरी अगले शैक्षणिक सत्र तक भी जारी रहेगी।

इस साल कोरोना संक्रमण के चलते देश भर में लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई थी। जिसके बाद कॉलेजों और स्कूलों को बंद कर दिया गया था। सीबीएसई ने दसवीं और 12वीं कक्षा की बची हुई परीक्षाएं भी आयोजित नहीं कीं, जिसमें छात्रों को पूर्व प्रदर्शन के आधार पर बचे हुए विषयों में नंबर दिए गए। इसके अलावा इस साल कॉलेजों के दाख‍िले भी काफी लेट हुए हैं। छात्र अभी तक असमंजस में थे कि एडमिशन प्रक्र‍िया पूरी होने के बाद वो कॉलेज इस साल जा पाएंगे भी या नहीं। लेकिन, सरकार ने विश्वविद्यालयों को कोरोना प्रोटोकॉल और हेल्थ मिनिस्ट्री की गाइडलाइन का पालन करते हुए कॉलेज कैंपस खोलने को कहा है। श‍िक्षा मंत्रालय ने कहा है कि यूजीसी से सलाह के बाद ये फैसला लिया गया है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने भी इस बारे में ट्वीट कर सूचना दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘कोविड-19 महामारी की स्थिति के मद्देनजर आयोग ने कमिटी की रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया है। सत्र 2020-21 में यूजी पीजी कोर्सेज फर्स्ट ईयर के एकेडमिक कैलेंडर पर यूजीसी गाइडलाइंस को मंजूरी दे दी गई है।’

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *