Type to search

1 June से हो रहे ‘ये’ बड़े बदलाव, सीधा आप पर पड़ेगा असर

कारोबार देश

1 June से हो रहे ‘ये’ बड़े बदलाव, सीधा आप पर पड़ेगा असर

Share
1 june

एक जून यानि की कल से देशभर में कई बदलाव होने वाले हैं। इनका सीधा असर आपकी पॉकेट और जिंदगी पर पड़ेगा। इसलिए जरूरी है कि नियमों की जानकारी पहले ही अपने पास रखें। बता दें कि 1 जून से बैंक ऑफ बड़ौदा में चेक से पेमेंट का तरीका बदलने वाला है। साथ ही गैस सिलेंडर, इनकम टैक्स तक कई जरूरीं चेंज शामिल हैं।

गैस-सिलेंडर – एक जून से एलपीजी यानी रसोई गैस सिलेंडर के रेट में भी बदलाव संभव है। अमूमन हर महीने तेल कंपनियां रसोई गैस सिलेंडर के नए दाम जारी करती हैं। कई बार तो महीने में 2 बार भी बदलाव देखे जाते हैं। हालांकि जरूरी नहीं कि 1 जून को ही नई कीमतें जारी हों। कई बार रेट समान ही रह जाते हैं।

ज्यादा गूगल स्टोरेज के लिए देने होंगे पैसे – गूगल फोटोज में 1 जून के बाद से अनलिमिटेड फोटोज अपलोड नहीं कर सकेंगे। गूगल के मुताबिक 15GB का स्पेस हर जीमेल यूजर्स को दिया जाएगा। इस स्पेस में जीमेल के ईमेल भी शामिल हैं और साथ ही आपके फोटोज भी। इसमें गूगल ड्राइव भी शामिल है। अगर 15GB से ज्यादा स्पेस यूज करना है तो इसके लिए पैसे देने होंगे। अभी तक अनलिमिटेड स्टोरेज फ्री था।

बैंक ऑफ बड़ौदा – बैंक ऑफ बड़ौदा ग्राहकों के लिए 1 जून 2021 से चेक से पेमेंट का तरीका बदलने वाला है। धोखाधड़ी का शिकार होने से बचाने के लिए बैंक ने ग्राहकों के लिए पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन अनिवार्य किया है। BoB के अधिकारियों का कहना है कि ग्राहकों को पॉजिटिव पे सिस्टम के तहत चेक की डिटेल्स को तभी रिकन्फर्म करना होगा, जब वे 2 लाख रुपये या इससे ज्यादा के बैंक चेक जारी करेंगे।

इनकम टैक्स ई-फाइलिंग की साइट – 1 से 6 जून तक इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का ई-फाइलिंग पोर्टल काम नहीं करेगा। वहीं 7 जून को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट टैक्सपेयर्स के लिए इनकम टैक्स ई-फाइलिंग का नया पोर्टल लॉन्च करेगा। आयकर निदेशालय के अनुसार ITR भरने की आधिकारिक वेबसाइट 7 जून 2021 से बदल जाएगी। 7 जून से ये http://INCOMETAX.GOV.IN हो जाएगा। अभी ये http://incometaxindiaefiling.gov.in है।

स्मॉल सेविंग्स स्कीम में होगा बदलाव – PPF, NSC, KVP और सुकन्या समृद्धि जैसी Small Saving Schemes की ब्याज दरों में भी बदलाव इसी महीने होना है। सरकार की ओर से हर तीन महीने पर स्‍माल सेविंग्‍स स्‍कीम्‍स की नई ब्‍याज दरें लागू की जाती हैं।

पीएफ को आधार से लिंक होना है जरूरी – ईपीएफओ ने निर्देश दिए हैं कि 1 जून के बाद से अगर कोई खाता आधार से लिंक नहीं है या फिर यूएनएस आधार वेरिफाइड नहीं है तो उसका इलेक्ट्रोनिक चालान कम रिटर्न नहीं भरा जा सकेगा। ऐसे में पीएफ खाताधारकों को भी नियोक्ता की तरफ से मिलने वाला हिस्सा रोका जा सकता है इसलिए समय रहते आप अपना पीएफ खाता को आधार से लिंक करा लें।

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join #Khabar WhatsApp Group.