Type to search

आज से महंगी हो गई हैं ये दस चीजें

कारोबार जरुर पढ़ें देश

आज से महंगी हो गई हैं ये दस चीजें

Share

महंगाई आज से और बढ़ने वाली है। दरअसल आज से जरूरत की तमाम वस्तुओं के दाम बढ़ जाएंगे. रोजमर्रा की वस्तुएं जैसे दही, लस्सी, चावल, पनीर और अन्य की कीमतें सोमवार से बढ़ सकती हैं. सरकार ने इन वस्तुओं पर वस्तु एवं सेवा कर की दरों में बढ़ोतरी कर दी है. साथ ही अस्पतालों में इलाज के लिए भी अब लोगों को अधिक पैसे चुकाने पड़ेंगे.

ये 10 चीजें हुई महंगी –
दही, लस्सी और छाछ (5% जीएसटी)
पनीर (5% जीएसटी)
सभी तरह के गुड़ (5% जीएसटी)
खांडसारी शुगर (5% जीएसटी)
नेचुरल हनी (5% जीएसटी)
मुरमुरे, चूड़ा (5% जीएसटी)
छैना मुरकी (5% जीएसटी)
चावल, गेहूं, राई, जौ (5% जीएसटी)
आटा (5% जीएसटी)
टेंडर कोकोनट वॉटर (5% जीएसटी)

अस्पताल से लेकर होटल तक होंगे महंगे –
अस्पतालों में इलाज के लिए अब लोगों को अधिक पैसे खर्च करने होंगे. आईसीयू के बाहर अस्पतालों के ऐसे कमरे, जिनका एक दिन का किराया मरीज के लिए 5000 रुपये से अधिक है, आज से सरकार यहां भी 5 फीसदी की दर से GST वसूलेगी. पहले अस्पतालों के ऐसे कमरों पर GST की दरें नहीं लागू थीं.

1000 रुपये किराया वाले होटल के कमरे पर भी आपको GST चुकाना पड़ेगा. अभी तक 1000 रुपये तक के कमरे GST के दायरे से बाहर थे. इन पर अब 12 फीसदी की दर से GST लगेगा. बैंकों में भी आपकी जेब का बोझ बढ़ेगा, क्योंकि चेक बुक जारी किए जाने पर बैंकों की तरफ से ली जाने वाली फीस पर अब 18 फीसदी GST वसूली जाएगी.

कौन सी चीजें हुई सस्ती –
हालांकि, रोपवे के जरिये वस्तुओं और यात्रियों के परिवहन तथा कुछ सर्जरी से जुड़े उपकरणों पर कर की दर घटाकर पांच प्रतिशत की गई है। पहले यह 12 प्रतिशत थी। ट्रक, वस्तुओं की ढुलाई में इस्तेमाल होने वाले वाहनों पर अब 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा। यह रेट पहले 18 प्रतिशत था। इसी तरह बागडोगरा से पूर्वोत्तर राज्यों तक की हवाई यात्रा पर जीएसटी छूट अब ‘इकनॉमी’ श्रेणी तक ही सीमित रहेगी।

आरबीआई (भारतीय रिजर्व बैंक), बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण, भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड जैसे नियामकों की सेवाओं के साथ रिहायशी मकान कारोबारी इकाइयों को किराये पर देने पर कर लगेगा। बैटरी या उसके बिना इलेक्ट्रिक वाहनों पर रियायती पांच प्रतिशत जीएसटी बना रहेगा।

These ten things have become expensive from today

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *