Type to search

आज GPS सिग्नल नहीं करेंगे काम, पावर ग्रिड भी होगा कमजोर… पृथ्‍वी से टकरा सकता हैं सूरज के केंद्र से निकला तेज तूफ़ान

विज्ञान

आज GPS सिग्नल नहीं करेंगे काम, पावर ग्रिड भी होगा कमजोर… पृथ्‍वी से टकरा सकता हैं सूरज के केंद्र से निकला तेज तूफ़ान

Share
sun can hit the earth

नासा (NASA) की सोलर डायनेमिक्स आब्जर्वेटरी (Solar Dynamics Observatory) ने सूरज से निकलने वाली तेज चमक (Solar Flare) को कैप्चर किया है, जो एक बड़े सौर तूफान का संकेत है. सूरज से निकली एक गर्म और तेज तूफान की लहर धरती से टकरा सकती है। इस तूफ़ान के चलते जीपीएस सिस्टम, मोबाइल नेटवर्क और सैटेलाइट टीवी प्रभावित हो सकते हैं। इनकी सेवाएं बाधित हो सकती हैं। सौर तूफान के चलते धरती के ऊत्तरी और दक्षिणी ध्रुव पर नॉर्दन और सदर्न लाइट्स की मात्रा और फ्रीक्वेंसी बढ़ सकती है। बताया जा रहा है कि ये तूफान आज यानी शनिवार को पृथ्वी से टकरा सकता है.

नासा ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि सूर्य ने गुरुवार को सुबह 11.35 बजे X1 कैटेगरी की एक चमक का उत्सर्जन किया, जो अब तक की सबसे तीव्र तीव्रता है. नासा ने बताया है कि ये तेज चमक R2887 सनस्पॉट से आ रही है. वहीं, स्पेसवेदर डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक ये तेज सौर तूफान सूरज के केंद्र से आ रहा है और इसकी तेज रोशनी सीधे पृथ्वी पर पड़ेगी.

इस सौर तूफान को X1 Category में रखा गया है, जो शनिवार को पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र से टकरा सकता है. X1 category ​के सौर तूफान अस्थायी, लेकिन बड़े रेडियो ब्लैकआउट की वजह बन सकते हैं. US Space Weather Prediction Center के मुताबिक, इसका असर दक्षिण अमेरिका में दिख सकता है.

बताया जा रहा है कि ये तेज सौर तूफान रेडिएशन का शक्तिशाली विस्फोट है, हालांकि इससे इंसानों को नुकसान नहीं पहुंच सकता. बताया ये भी जा रहा है कि इसकी इतनी तेज चमक होगी कि इससे वातावरण के वो लेयर प्रभावित हो सकते हैं जिनमें जीपीएस और कम्यूनिकेशन सिग्नल ट्रैवल करते हैं.

इस कैटेगरी में रखा गया
नासा के मुताबिक, X-class सबसे प्रचंड रूप वाले सौर तूफान को दिखाता है. नंबर के बढ़ने के साथ जैसे X1, X2 या X3 होने का अर्थ है कि इसकी तीव्रता दोगुनी और तीना गुना ज्यादा है.

Today GPS signal will not work, power grid will also be weak… A strong storm emanating from the center of the sun can hit the earth

Share This :
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *