Type to search

असम-मिजोरम बॉर्डर पर दो गुटों में हिंसक झड़प

देश

असम-मिजोरम बॉर्डर पर दो गुटों में हिंसक झड़प

Share
assam-mizoram

असम और मिजोरम बॉर्डर पर दो गुटों में हिंसक झड़प होने की खबर सामने आई है। इस हिंसक झटप में कई लोग घायल हो गए है। इस दौरान उपद्रवियों ने कई घरों में आग लगा दी। जिससे माहौल और तनावपूर्ण हो गया है। सीमा पर भी तनाव बढ़ा गया है। दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रीयों ने आपस में बातचीत भी की है। प्रशासन द्वारा कहा गया है कि हालात नियंत्रण में है।

हालात बिगड़ता देख सुरक्षाकर्मियों को असम के काछार जिले और मिजोरम के कोलासिब जिले के अंतर्गत सीमावर्ती क्षेत्रों में तैनात कर दिया गया है। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने फोन पर असम-मिजोरम बॉर्डर पर मौजूदा स्थिति के बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय और केंद्रीय गृह मंत्रालय को अवगत करा दिया है। इधर मिजोरम के गृह मंत्री ललचामलियाना ने कहा कि हालात का जायजा लेने के लिए केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला सोमवार को दोनों राज्यों के साथ होने वाली बैठक की अध्यक्षता करेंगे। उन्होंने कहा कि बैठक में दोनों राज्यों के मुख्य सचिव मौजूद रहेंगे।

मिजोरम के वैरेंगते गांव के पास और असम के लैलापुर के अंतर्गत आते हैं। मिजोरम के कोलासिब जिले का वैरेंगते गांव राज्य का उत्तरी हिस्सा है, जिससे गुजरता राष्ट्रीय राजमार्ग-306 असम को इस राज्य से जोड़ता है। वहीं, असम के कछार जिले का लैलापुर इसका सबसे करीबी गांव है। हिंसक झड़प में मिजोरम के चार लोगों समेत कई लोग घायल हो गए। झड़प में घायल एक व्यक्ति को कोलासिब जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिसकी गर्दन में गहरा घाव होने के कारण उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। वहीं, तीन लोगों का इलाज वैरेंगते गांव के जनस्वास्थ्य केंद्र में किया गया।

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और मिजोरम के सीएम जोराम थांगा दोनों आपस में बातचीत किये है। इस दौरान जोराम थांगा ने मुख्यमंत्री सोनोवाल को अंतर-राज्यीय सीमा पर शांति बनाए रखने और सहयोग से काम करने का आश्वासन दिया। इधर सोनोवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूर्वोत्तर में तेजी से विकास हो रहा है हालांकि, इस गति बनाए रखने के लिए, राज्यों के बीच शांति बनाए रखने और संबंधों को बढ़ाने की आवश्यकता है।

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *