Type to search

चार राज्यों में राज्यसभा की 16 सीटों पर वोटिंग आज

देश राजनीति

चार राज्यों में राज्यसभा की 16 सीटों पर वोटिंग आज

Share
rajya sabha election

खरीद-फरोख्त के आरोप-प्रत्यारोपों के बीच चार राज्यों की 16 राज्यसभा सीट पर आज मतदान होगा. राज्यसभा की 57 सीटों में से 41 सीटों पर निर्विरोध निर्वाचन पहले ही हो चुका है. इसी के मद्देनजर कांग्रेस और बीजेपी ने अपने विधायकों को होटल और रिसॉर्ट में रखे हैं. इन चुनावों में जिन उम्मीदवारों के चुनावी भाग्य का फैसला किया जाएगा, उनमें केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और पीयूष गोयल, कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला, जयराम रमेश और मुकुल वासनिक व शिवसेना नेता संजय राउत प्रमुख हैं.

इन सभी नेताओं के बिना किसी परेशानी के जीतने की उम्मीद है. हाल ही में 57 राज्यसभा सीट के लिए द्विवार्षिक चुनावों की घोषणा की गई थी और उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, बिहार, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, पंजाब, तेलंगाना, झारखंड और उत्तराखंड में सभी 41 उम्मीदवारों को पिछले शुक्रवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया था. हालांकि, हरियाणा, राजस्थान, महाराष्ट्र और कर्नाटक की 16 सीट के लिए शुक्रवार को चुनाव होंगे, क्योंकि उम्मीदवारों की संख्या चुनाव वाली सीट से अधिक है.

चुनाव मैदान में छह उम्मीदवारों में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, अभिनेता-नेता जग्गेश और भाजपा के निवर्तमान एमएलसी लहर सिंह सिरोया, पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश और कांग्रेस के राज्य महासचिव मंसूर अली खान और जद (एस) के पूर्व सांसद डी कुपेंद्र रेड्डी हैं. दो राज्यसभा उम्मीदवारों (सीतारमण और जग्गेश) को अपने दम पर निर्वाचित कराने के बाद, भाजपा के पास अतिरिक्त 32 वोट बचे रहेंगे. पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश को विजयी बनाने के बाद कांग्रेस के पास 24 अतिरिक्त वोट बचेंगे. जद (एस) के पास केवल 32 विधायक हैं, जो एक सीट जीतने के लिए पर्याप्त नहीं है.

चुनाव से एक दिन पहले, कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धरमैया ने जद (एस) के विधायकों को एक खुला पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने अपनी पार्टी के दूसरे उम्मीदवार मंसूर अली खान के पक्ष में ‘अंतररात्मा की आवाज पर मतदान’ करने का अनुरोध किया. जद (एस) नेता एचडी कुमारस्वामी ने उनकी पार्टी के विधायकों को पत्र लिखने के लिए सिद्धरमैया पर निशाना साधा. कुमारस्वामी ने कहा कि अगर उन्होंने नामांकन पत्र दाखिल करने से पहले हमारी पार्टी के नेताओं के साथ इस पर चर्चा की होती तो ऐसी जटिलताएं पैदा नहीं होतीं. उन्होंने अल्पसंख्यक उम्मीदवारों के समर्थन के बारे में लिखा है, तो कांग्रेस ने जयराम रमेश के बजाय मंसूर अली खान को अपना पहला उम्मीदवार क्यों नहीं बनाया.

Voting for 16 Rajya Sabha seats in four states today

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *