Type to search

मणिपुर में BJP का अगला CM कौन? कहां फंस रहा पेच

जरुर पढ़ें देश राजनीति

मणिपुर में BJP का अगला CM कौन? कहां फंस रहा पेच

Share

नई दिल्ली – मणिपुर में विधानसभा चुनाव के परिणाम सामने आने के बाद अब लगातार मुख्यमंत्री बनने की कवायद तेज है। चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने 60 में से 32 सीटें जीतकर बहुमत हासिल की है. लेकिन एक मुद्दे पर पेच फंसा हुआ है. वह मुद्दा है, मणिपुर का अगला मुख्यमंत्री कौन बनेगा? मणिपुर विधानसभा चुनाव 2022 के लिए भारतीय जनता पार्टी ने एन. बीरेन सिंह को आधिकारिक तौर पर चेहरा घोषित नहीं किया था.

निर्वाचन आयोग के अनुसार, भाजपा को 32 सीटें, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) को 6 और और नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) को 7 सीटें मिली हैं, जबकि नगा पीपुल्स फ्रंट और कांग्रेस को 5-5 सीटें मिली हैं। 2 सीटों पर कूकी पीपुल्स अलायंस को जीत मिली है। तीन सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की। इस बार भाजपा का मत प्रतिशत 37.8 फीसदी रहा। कांग्रेस अपने खराब प्रदर्शन के बावजूद 16.8 प्रतिशत मत पाकर सम्मानजनक प्रदर्शन करने में सफल रही।

भाजपा की प्रदेश इकाई की प्रमुख ए.शारदा देवी से जब यह पूछा गया कि क्या कोई नया मुख्यमंत्री होगा या एन.बीरेन सिंह मुख्यमंत्री बने रहेंगे, तो उन्होंने कहा, ‘‘एक राष्ट्रीय दल के रूप में हमारे पास एक संसदीय बोर्ड है, जो राज्य इकाई के पदाधिकारियों के परामर्श से तय करेगा कि अगला मुख्यमंत्री कौन होगा।’’ भाजपा ने मणिपुर में 2017 में सिर्फ 21 सीट जीतने के बावजूद, क्षेत्रीय दलों एनपीपी और एनपीएफ के साथ मिलाकर सरकार बनाई थी। विधानसभा में भाजपा की ताकत बाद में बढ़कर 28 हो गई थी। मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा, ‘‘गठबंधन एक ऐसा मामला है जिस पर केंद्रीय नेतृत्व फैसला करेगा।’’ जबकि पार्टी के अन्य पदाधिकारियों ने कहा कि दोनों सहयोगी दल भाजपा को समर्थन देने की पेशकश कर चुके हैं।

मणिपुर में मिली ऐतिहासिक जीत पर मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा कि मणिपुर में भाजपा की ऐतिहासिक जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नागरिकों के गतिशील नेतृत्व में लोगों के विश्वास का प्रमाण है। मैं भाजपा को फिर से बहुमत मिलने के लिए मणिपुर की जनता का दिल से शुक्रिया अदा करता हूं। साथ ही पार्टी के बड़े नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री, रक्षा मंत्री और अन्य सभी नेताओं का भी शुक्रिया करता हूं। उनके मार्गदर्शन से हमें बहुमत मिला है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी मणिपुर में भाजपा को मिली प्रचंड जीत पर जनता का आभार जताया। पीएम मोदी ने दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा उत्तर प्रदेश में 4 दशक बाद कोई सरकार लगातार दूसरी बार सत्ता में आई है। तीन राज्य उत्तर प्रदेश, गोवा और मणिपुर में सरकार में होने के बावजूद भाजपा के वोट शेयर में बढ़ोत्तरी हुई है।

मणिपुर में BJP का अगला CM कौन?
भाजपा सूत्रों की मानें तो मणिपुर में मुख्यमंत्री पद को लेकर पार्टी के अंदर खींचतान है, इसलिए चुनाव से पहले किसी को आधिकारिक तौर पर सीएम फेस नामित नहीं किया गया था. एन. बीरेन सिंह ने मुख्यमंत्री के रूप में मणिपुर में 5 साल तक एक सफल सरकार का नेतृत्व किया है, लेकिन पार्टी के अंदर उन्हें चुनौती मिल रही है. थोंगाम बिस्वजीत सिंह (Thongam Biswajit Singh) मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में एक हैं.

उन्होंने एन बीरेन सिंह से पहले भाजपा जॉइन की थी. भाजपा सूत्रों के मुताबिक थोंगाम बिस्वजीत सिंह को 2017 में लगा था कि वरिष्ठ होने के नाते उन्हें मणिपुर का मुख्यमंत्री बनाया जाएगा. लेकिन भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने एन बीरेन सिंह को मुख्यमंत्री पद के लिए चुना. इस फैसले से थोंगाम बिस्वजीत सिंह नाराज बताए जा रहे थे. डैमेज कंट्रोल करने के लिए थोंगाम को मणिपुर सरकार में अहम मंत्रालयों का प्रभार सौंपा गया.

लेकिन इससे बात नहीं बनी. थोंगाम बिस्वजीत सिंह पांच साल के दौरान एन बीरेन सिंह के साथ अपने मुद्दों को लेकर कई बार दिल्ली का दौरा किया और केंद्रीय नेतृत्व तक अपनी बात पहुंचाई. हालांकि, मणिपुर में चुनाव प्रचार अभियान के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कई मौकों पर यह कहा कि एन बीरेन सिंह के काबिल नेतृत्व में राज्य ने अभूतपूर्व विकास किया है.

राजनीतिक जानकारों की मानें तो भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व एन बीरेन सिंह को ही एक बार फिर से मणिपुर की कमान सौंपना चाहता है. लेकिन, अगर बीरेन सिंह सीएम बने तो बिस्वजीत के समर्थक विरोध शुरू कर सकते हैं, और यदि थोंगाम बिस्वजीत सिंह को मणिपुर का मुख्यमंत्री बनाया जाता है तो एन बीरेन सिंह के समर्थक बवाल काट सकते हैं.

मणिपुर के अगले मुख्यमंत्री के दावेदारों में एक अन्य नाम गोविंददास कोंथौजम (Govindas Konthoujam) का है. वह कांग्रेस के पूर्व राज्य प्रमुख रह चुके हैं और अगस्त 2021 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे. वह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के साथ जुड़े रह चुके हैं. यह बात उनके पक्ष में है. गोविंददास ने 2022 के विधानसभा चुनाव में मणिपुर की बिष्णुपुर सीट से जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं.

भाजपा की प्रदेश इकाई की प्रमुख अधिकारीमायुम शारदा देवी (Manipur BJP President A. Sharda Devi) का कहना है कि हमारी पार्टी में केंद्रीय नेतृत्व तय करेगा कि मणिपुर का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा. केंद्रीय नेतृत्व जिसके भी नाम पर मुहर लगाएगा, हम सभी उसके साथ खड़े रहेंगे.


Who is the next CM of BJP in Manipur? where is the screw getting stuck

Share This :
FacebookTwitterWhatsAppTelegramShare
Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *